Skip to content

Category: mir-ghazal

किसकी मस्जिद कैसे बुतखाने

किसकी मस्जिद कैसे बुतखाने कहाँ के शेख-औ-शाह एक गरदिश में तेरी चश्म-ए-सियाह के सब खराब मूँद रखना चश्म का हस्ती में आइना-ए-दीद है कुछ नहीं…